Breaking News

क्या है मोनालिसा का रहस्य, क्यों एक रहस्यमय पेंटिंग की कीमत है पांच हजार करोड़ से भी अधिक

क्या है मोनालिसा का रहस्य, क्यों एक रहस्यमय पेंटिंग की कीमत है पांच हजार करोड़ से भी अधिक

क्या है मोनालिसा का रहस्य, क्यों एक रहस्यमय पेंटिंग की कीमत है पांच हजार करोड़ से भी अधिक



दोस्तों आपने दुनिया के 7 अजूबों के बारे में सुना होगा, आपने दुनिया में एक से बढ़कर एक आलीशान इमारतें देखीं होंगी या उनके बारे में पढ़ा होगा जो कि करोड़ों की कीमत रखतीं हैं पर सवाल है कि क्या एक तस्वीर की कीमत 5253 करोड़ हो सकती है? यही है आज का हमारा विषय. 16वी शताब्दी में एक जीनियस द्वारा बनाई गई तस्वीर मोना लिसा और इसके रहस्य.

एक जीनियस द्वारा निर्मित रहस्य-


15 अप्रैल 1452 में लियोनार्डो डा विंची का जन्म इटली के विंची शहर में हुआ था. पुरातत्व वेत्ता उन्हें धरती पर जन्मा सर्वश्रेष्ठ बुद्धि वाला इंसान मानते हैं और कहा जाता है उनसे बड़ा जीनियस कोई हुआ ही नहीं. वास्तविकता में डा विंची अद्भुत थे और इसका सबूत हैं उनकी बनाईं कलाकृतियां. मोना लिसा की पेंटिंग भी इन्हीं में से एक है. मोना लिसा की पेंटिंग में खास बात यह है कि इसे आप जितने कोणों से देखेंगे तस्वीर में मोना लिसा के चेहरे की मुस्कान हर जगह से अलग दिखाई देगी, सवाल है ये सम्भव कैसे है? कहते हैं हर इंसान को मोना लिसा की तस्वीर अलग नजर आती है. सवाल है डा विंची ने ये सब किया कैसे?

मोना लिसा का रहस्य mystery of mona lisa painting 


डा विंची ने इस तस्वीर को बनाने में 16 वर्षों का समय लगाया, जब उन्होंने इस तस्वीर को बनाना शुरू किया था तब उनकी उम्र 51 वर्ष थी और इसको पूरा करने से पहले ही उनकी म्रत्यु हो गयी.
तस्वीर में एक जगह उन्होंने एक संदेश लिखा है जिसका हिंदी में अर्थ है उत्तर यहाँ है. निश्चित
रूप से उन्होंने इस तस्वीर में कुछ रहस्य छुपा दिया था या कोई खोज जिसे वो दुनिया के सामने लाना चाह रहे थे.
उनके लिखे इस मैसेज की पहेली सुलझाने वैज्ञानिक सालों से मोना लिसा की तस्वीर पर रिसर्च कर रहे हैं, प्रयोग कर रहे हैं और लियोनार्डो द्वारा लिखित किताबों को पढ़ रहे हैं पर हैरानी की बात है कि जिस तस्वीर पर उन्होंने जीवन के 16 साल खर्च किए उसके बारे में एक शब्द भी उन्होंने नहीं लिखा.

कुछ कहते हैं मोना लिसा के रूप में उन्होंने अपनी माँ को चित्रित किया है तो कुछ थ्योरी ऐसी भी आईं है जिनमे उल्लेख किया गया है कि मोना लिसा के रूप में डा विंची ने खुद का स्त्री रूप चित्रित किया है. इन सबके बीच हाल ही में एक वेबसाइट PARANORMAL CRUICIBLE ने चौंकानेवाला तथ्य उजागर किया है.
क्या डा विंची परग्रहियों के बारे में बात कर रहे थे-

वेबसाइट के मुताबित डा विंची ने इस पेंटिंग में परग्रहियों से सम्बंधित रहस्य छुपाए थे और यही उनके संदेश में छुपे रहस्य का जवाब है. दरअसल उन्होंने कहा है कि यदि तस्वीर के दोनों किनारों(बाएं और दाएं) को मिलाते हैं तो एक एलियन की तस्वीर बनती है.

अब इस सिद्धांत में कितनी सत्यता है इसका हम दावा नहीं कर सकते और न ही इसकी अभी कोई आधिकारिक पुष्टि की गई है.


No comments